मिट्टी के ढे़ले फेककर मारने वाले दों आरोपीयों को सजा एवं जुर्माना।

मनासा। श्री नरेन्द्र कुमार भंडारी, न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, (केंप कोर्ट) रामपुरा द्वारा दों आरोपीयों को मिट्टी के ढे़ले फेककर मारने वाले दों आरोपीयों को न्यायालय उठने तक का कारावास एवं कुल 250-250रू. जुर्माने से दण्डित किया। जिला अभियोजन अधिकारी श्री आर. आर. चौधरी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि घटना लगभग 05 वर्ष पुरानी होकर दिनांक 13.06.2014 को प्रातः 10ः00 बजे की है। फरियादीया गंगाबाई अपने खेत पर बकरी चरा रही थी। तभी उसके जेठ बंशीलाल व देवर दुलीचंद्र दोनों खेत पर आये और बोले की तुने उसकी पत्नि व रामप्रसाद रावत की पत्नि की लड़ाई कराई है। फरियादीया के मना करने पर की उसने लड़ाई नहीं करवाई है। इसी बात को लेकर आरोपी फरियादीया को आरोपी बंशीलाल ने मिट्टी के ढे़करें (मिट्टी के ढे़ले) की मारी इस बीच दुलीचंद्र भी मिट्टी के ढे़करें से मारने लगा। जिससे उसे फरियादीया को चोटे आई। तत्पश्चात फरियादीया की रिपोर्ट के आधार पर थाना रामपुरा के अपराध क्रमांक 176/14, धारा- 323/34 भादवि में पंजीबद्व किया। बाद विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय में अभियोजन पक्ष के सभी आवश्यक साक्षियों के साक्ष्य करायें गये। 

 

जिस पर से श्री नरेन्द्र कुमार भंडारी, न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, रामपुरा द्वारा आरोपीगण (1) बंशीलाल पिता शवराम रावत, उम्र-44 वर्ष, (2) दुलीचंद्र पिता शवराम रावत, उम्र-29 वर्ष, निवासी-ग्राम ड़ोरियाखेड़ी, थाना-रामपुरा, तहसील मनासा, जिला-नीमच को धारा 323/34 भादवि (एकमत होकर मारपीट करना) में न्यायालय उठने तक के कारावास व कुल 500रू. के जुर्माने से दण्डित किया तथा फरियादीया गंगाबाई को धारा 357 दप्रस के अंतर्गत क्षतिपूर्ति स्वरूप 500रू. राशि देने का आदेश दिया गया। न्यायालय में शासन की ओर से पैरवी श्री अरविंद सिंह, ए.डी.पी.ओ. द्वारा की गई।