मंदसौर पुलिस को मिली बड़ी सफलता, हत्या के आरोपी गिरफ्तार, पढ़े खबर।

नीमच। मंदसौर पुलिस ने 18 फरवरी को रेलवे ट्रेक पास जो लाश मिली थी उसकी गुथी सुलझा ली है उसमे आरोपियों को गिरफ्तार किया है दो लोगो ने एक युवक के साथ पहले तो हाथापाई की, जिसके बाद दोनों लोगो ने मिलकर युवक की हत्‍या कर दी, दोनो लोगो ने पुलिस का ध्‍यान भटकाने के लिए युवक की लाश को रेलवे ट्रेक पर फेक दिया जिसके बाद पुलिस ने मृतकी पहचान उसकी जेब से निकले आधार कार्ड से की। 

दरअसल 18 फरवरी को मंदसौर जिले में ग्राम धामनिया दीवान के समीप स्थित रेलवे स्‍टेशन पर एक अज्ञात युवक की लाश पुलिस को मिली थी, जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंची थी, जिसके बाद पुलिस द्वारा शव की तलाशी ली गई थी, तलाशी के दौरान पुलिस को मृतक की जेब से आधार कार्ड मिला था, जिसके आधार पर पुलिस ने मृतक के परिजनों को घटना की जानकारी दी थी पुलिस जांच और मृतकों के परिजनों के आधार पर शव की पहचान ग्राम बरखेडालोया निवासी भगवान पिता हीरालाल मेघवाल (65) के रूप में हुई थी

मंदसौर पुलिस को घटना के संबंध में शुरूआत से ही आत्‍महत्‍या नहीं बल्कि हत्‍या की आशंका लग रही थी, जिसके चलते पुलिस घटना को लेकर बारिकी से जांच कर रही थी, शनिवार को घटना के संबंध में पुलिस कप्‍तान तुषारकांत विधार्थी के नेतृत्‍व पुलिस को बडी सफलता हाथ लगी है

पुलिस ने हीरालाल की हत्‍या करने वाले दो आरोपी हरिशंकर पिता कंवरलाल मेघवाल निवासी ग्राम चचोर रामपुरा जिला नीमच व जगदीश पिता कन्‍हैयालाल मेघवाल निवासी ग्राम टकरावद जिला मंदसौर को गिरफ्तार कर लिया है,  जिसके खुलासा पुलिस कप्‍तान तुषारकांत विधार्थी ने शनिवार को प्रेसवार्ता के दौरान किया है 

हत्‍या का कारण-

दरअसल मृतक भगवान लाल का पोता गोविंद पिता सुरेश मेघवाल 11 फरवरी को आरोपी राजू उर्फ हरिशंकर की 19 वर्षीय बेटी को भगा ले गया था, जिसके बाद दोनों आरोपी मृतक के घर पहुंचे थे, उसी दौरान बातचीत करते समय दोनों के बीच हाथापाई हो गर्इ थी, जिसके बाद दोनों आरोपियो ने गला दबाकर भगवान की हत्‍या कर दी थी, और पुलिस को गुमराह करने के लिए आरोपियों ने लाश को रेलवे ट्रेक पर फेक दिया था