नाबालिग से बलात्कार के आरोपी की जमानत खारीज।

नीमच। श्री जसवंत सिंह यादव, अपर सत्र न्यायाधीश, नीमच द्वारा नाबालिग से बलात्कार करने के एक आरोपी का जमानत आवेदन अभियोजन के लिखित विरोध करने पर खारिज किया। जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री आर. आर. चौधरी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि नाबालिग पीडिता कक्षा 11 की छात्रा हैं, जिसको उसका पूर्व परिचित आरोपी विकास बहलाफुसलाकर ग्राम लखमी ले गया और सुने मकान में उसके साथ बलात्कार कर उसको धमकाकर वापस छोड गया। दिनांक 17.12.2018 को जब पीडिता स्कूल जा रही थी, तब आरोपी आशा पेट्रोल पंप के पास से फिर उसको धमकाकर ग्राम लखमी ले गया, वहां पर उसको दो अन्य आरोपी माया भूरिया तथा ऐजाज खान मिले, फिर तीनो पीडिता को धमकाकर रतलाम में ले गये, वहा पर जब तीनों आरोपीयों को पीडिता के अव्यस्क होने का पता चला तो तीनों ने पीडिता को जान से मारने की धमकी देकर वापस नीमच छोड गये। पीडिता ने घर आकर घटना परिवार के सदस्यों को बताई व आरोपीगण के विरूद्ध पुलिस थाना बघाना में अपराध क्रमांक 389/18, धारा 363, 366, 376, 506/34 भादवि एवं 3/4 पॉक्सों एक्ट के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध किया गया। पुलिस बघाना ने विवेचना के दौरान तीनों आरोपीयों को गिरफ्तार कर, विवेचना उपरांत चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया। इसी अवधि में 02 आरोपीयां माया भूरिया व ऐजाज खान को म.प्र. उच्च न्यायालय द्वारा जमानत पर छोडा गया तथा आरोपी विकास द्वारा जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया। श्री आर. आर. चौधरी, जिला लोक अभियोजन अधिकारी द्वारा आरोपी द्वारा प्रस्तुत जमानत आवेदन का लिखित में विरोध करते हुए तर्क किया कि नाबालिग बालिकाओं के विरूद्ध बढते गंभीर अपराधों को देखते हुए व समाज पर इसके पडने वाले विपरित प्रभाव को देखते हुए आरोपी को जमानत न दी जावे। श्री जसवंत सिंह यादव, अपर सत्र न्यायाधीश, नीमच द्वारा आरोपी विकास पिता गिरीराज डामोर, उम्र-18 वर्ष, निवासी-33, पुरानी नगर पालिका, बंगला नम्बर 60, एकता कॉलोनी, जिला नीमच द्वारा प्रस्तुत जमानत आवेदन को खारिज किया गया।