सोने की चैन चोरी करने वाले 2 आरोपीयों को 01-01 वर्ष का सश्रम।

नीमच। श्री मनीष कुमार पारीक, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा दो आरोपीयों को एक महिला के गले से सोने की चैन चोरी करने के आरोप का दोषी पाकर 01-01 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1000-1000रू. जुर्माने से दण्डित किया।

अभियोजन मीडिया सेल प्रभारी एडीपीओ रितेश कुमार सोमपुरा द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 21.02.2013 को दिन के 3 बजे फरियादीया रेखा पटवा, टीचर्स कॉलोनी स्थित अपने घर से अंकल के घर पर खाना खाने जा रही थी, जैसे ही वह ऐनीमेट स्कूल के सामने वाली गली में पहुची, दो व्यक्ति मोटरसाईकल से आये और उसके गले से ढाई तोला वजन की सोने की चैन को खींच कर भाग गये। फरियादीया ने घटना की रिपोर्ट पुलिस थाना नीमच केंट पर की जिस पर से अपराध क्रमांक 106/13 पंजीबद्ध किया गया। पुलिस नीमच केंट ने विवेचना के दौरान आरोपीयों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से सोने की चैन को जप्त कर शेष विवेचना पूर्ण कर चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया। उस समय लगातार इस प्रकार की बढती हुई गंभीर घटनाओं को देखते हुए, शासन द्वारा प्रकरण को जघन्य एवं सनसनीखेज चिन्हित किया गया।श्री आर. आर. चौधरी, डीपीओ द्वारा अभियोजन पक्ष की ओर से फरियादीया, विवेचक सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान न्यायालय में कराकर आरोपीयों के विरूद्ध अपराध प्रमाणित कराकर दण्ड के प्रश्न पर तर्क दिया कि इस प्रकार की बढती हुई घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए उदाहरणस्वरूप आरोपीगण को कठोर दण्ड से दण्डित किया जाये। श्री मनीष कुमार पारीक, न्यायिक दण्डिधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा आरोपीगण (1) सुनील पिता दशरथ सरगरा, उम्र-30 वर्ष, निवासी-ग्राम लोध, थाना जावद, जिला नीमच व (2) सुरेश उर्फ ठाकरिया पिता बंशीलाल खटीक, उम्र 35 वर्ष, निवासी ग्राम आखरिया चौक, प्रतापपुरा रोड, नई चौकी के पास, थाना बैगु, जिला चित्तोड़गढ (राजस्थान) को धारा 379 भादवि के अंतर्गत 01-01 वर्ष के कठोर कारावास एवं 1000-1000रू जुर्माने से दण्डित किया। न्यायालय में शासन की ओर से श्री आर. आर. चौधरी, डीपीओ द्वारा पैरवी की गई।