मामा-भांजा मिलकर करते थे चोरी, पुलिस ने पकड़ा तो मिला गाड़ियों का ज़ख़ीरा

भोपाल पुलिस ने शातिर वाहन चोर गैंग के दो सदस्यों को धर दबोचा है. गिरफ्तार हुए गैंग के सदस्य मामा और भांजा हैं. मामा-भांजा मिलकर मास्टर चाबी की मदद से वाहनों की चोरी किया करते थे और फिर उन्हें दूसरे जिलों में ठिकाने लगा देते थे. जानकारी के अनुसार भोपाल की कोहेफिजा थाना पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर विकास कैथवास और उसके दोस्त दीपक नायक को वाहन चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया. दोनों आरोपियों की निशानदेही पर 14 बाइक और 4 कार बरामद हुई है. पूछताछ में आरोपी विकास के मामा विनोद को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर 28 बाइक और 2 कार बरामद की गई है. इस तरह पुलिस को चोरी की कुल 42 बाइक और 6 कार मिली हैं.

मास्टर चाबी से वाहनों की चोरी


आरोपी मामा और भांजा मास्टर चाबी से वाहनों को चोरी कर उन्हें दूसरे जिलों में ठिकाने लगाने का काम करते थे. आरोपी चोरी की गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन नंबर को बदलकर इंश्योरेंस वाली गाड़ियों के नंबर की सहायता से गाड़ियों को बेच देते थे. बता दें कि आरोपी चोरी की गाड़ियां भोपाल में नहीं बेचते थे.

कोर्ट के माध्यम लौटाई जाएंगी गाड़ियां


डीआईजी इरशाद वली ने कहा कि पुलिस ने भोपाल के अलग-अलग थाना क्षेत्रों से चोरी हुई 48 वाहनों को जब्त किया है. उन्होंने कहा कि जब्त की हुई गाड़ियों को उनके मालिक को कोर्ट के माध्यम से दे दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि वाहन चोरी में मामा-भांजा विकास कैथवास और विनोद कैथवास शामिल हैं. साथ ही दीपक नाम का एक तीसरा शख्स भी इस गिरोह का सदस्य है. तीनों मिलकर गाड़ियां चुराया करते थे.

पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है. करीब दो सालों से आरोपी मामा-भांजा गाड़ियों की चोरी कर रहे थे. पूछताछ में शहर में हुई दूसरे चोरी के वाहनों के मामले में भी खुलासे हो सकते हैं. पुलिस आरोपियों का रिमांड लेकर पूछताछ कर रही है.