महिला की सेहत में आए 5 बदलाव बन सकते हैं हार्ट अटैक की वजह!

2018-11-05 11:49:44

हार्ट अटैक के मामले देश में लगातार बढ़ रहे हैं। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को दिल से जुड़ी बीमारियां ज्यादा घेरती हैं। इससे बचने के लिए अपने शरीर में होने वाले बदलावों को महसूस करना और समझना बहुत जरूरी है। हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि हार्ट अटैक आने से पहले औरतों का शरीर कई तरह के संकेत पहले ही देने शुरू कर देता है। अगर समय रहने इन पर ध्यान दिया जाए तो कॉफी हद तक इस परेशानी से बचा जा सकता है। 
 

1. जी मिचलाना, उल्टी, चक्‍कर आना
महिलाओं में जी मिचलाना, अपच, उल्टी जैसे लक्षण पुरुषों के मुकाबले ज्यादा दिखाई देते हैं। इसका कारण दिल को रक्त पहुंचाने वाली दायीं धमनी का अवरुद्ध होना है। हार्ट अटैक से पहले इस तरह के लक्षण दिखाई देते हैं। जब महिलाओं को लगातार चक्कर आना, सिर घूमना, जी मिचलाना, उल्टी जैसे लक्षण दिखाई देने लगे तो बिना देरी किए जांच जरूर करवाएं। 

2. शरीर के ऊपरी हिस्से में दर्द
जब शरीर के ऊपरी हिस्से मेें असहनीय दर्द होने लगे तो यह हार्ट अटैक का लक्षण हो सकता है। इसमें गर्दन,दांत,पीठ, भुजाएं, कंधे की हड्डी में दर्द का अहसास होता है। इसे रेडीएटिंग कहा जाता है। इसे कमजोरी या फिर काम का प्रेशर न समझ कर गंभीरता से लें और जांच करवाएं। 

3. सीने में दर्द
वैसे तो सीने में दर्द पेट में गैस की वजह से भी हो सकता है लेकिन यह हार्ट अटैक का लक्षण भी हो सकता है। इसे इग्नोर न करके वजह जानने की कोशिश करें और डॉक्टर सलाह जरूर लें। 

4. पसीना आना
गर्मी के मौसम या मेनोपॉज से नहीं गुजर रहे, तापमान सामान्य होने पर भी एकदम से पसीना आ रहा है तो संभल जाएं। तुरंत डॉक्टर से चैकअप करवा कर इलाज शुरू कर दैं ताकि वो सही समय पर आपका इलाज हो सकें।

5. सांस लेने में दिक्कत होना
एक रिसर्च के मुताबिक, लगभग 42 फीसदी औरतों को हार्ट अटैक आने पर सांस लेने में परेशानी होती है। अगर सीने मेें दर्द के बिना भी सांस लेने में परेशानी आ रही है तो यह हार्ट अटैक का लक्षण हो सकता है। 


Responses


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /home/justneemuch/public_html/description.php on line 378

Leave your comment