इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथेरेपी वुमन सेल की नीमच जिले की टीम ने  फिजियोथेरेपी फ़ॉर फिट मॉम कार्यशाला का किया एतिहासिक आयोजन!

2018-12-04 11:45:38

 ( करीब 50 से अधिक  गर्भवती महिलाओं ने   प्रशिक्षण लिया )

कार्यशाला का उद्देश्य महिलाओं को डिलीवरी के लिए आपरेशन से बचना है ।वुमन सेल की राज श्री फिजियोथेरेपी नीमच की डॉ. नेहा सोलंकी , विक्रम होस्पिटल खोर की डॉ. मर्लिन मैथयू,  गणेश फिजियोथेरेपी जावद की डॉ. शिखा शर्मा ने बताया कि अगर महिलाएं फिजियोथेरेपी द्वारा बताए गए सभी प्रोटोकॉल फॉलो करें तो कई गुना ज्यादा नॉर्मल डिलीवरी के चांस रहते है 

कार्यशाला में डॉ. शिखा शर्मा ने बताया कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में सबसे सामान्य शिकायत कमर दर्द,पैरों में सूजन,साँस फूलने,की होती है । ऐसे में उन्हें कुर्सी  पर पैर के नीचे  स्टूल लगाकर बैठना ,ज्यादा देर तक पैर लटकाकर या खड़ा रहकर नही रहना चाहिए समय समय पर आराम और थोड़ा थोड़ा खाने जैसी सावधानीया रखनी चाहिए साथ ही व्यायाम के माध्यम से गर्भावस्था में होने वाली पीड़ा को  भी काफी हद तक कम किया जा सकता है डॉ. मर्लिन मैथयू ने बताया कि  गर्भावस्था को तीन चरणों मे बाटा गया है जिसमे 1से 3 माह,3से 6 माह और 6 से 9माह के अंतर्गत शरीर कई परिवर्तनों से  गुजरता है  जिसमे शरीर मे कई  समस्याएं आती है  एवं मानसिक तनाव भी रहता है  इसलिये व्यायाम के तरीके भी भिन्न रहते है  जिसमे फिजियोथेरेपी के माध्यम से इन सारी समस्याओं  का निदान  हो  जाता है 

मसलन मांसपेशियों की मजबूती के लिये एब्डोमिनल एक्सरसाइज ,कमर की कसरत,  पेल्विक फ्लोर कसरत   के अलावा ब्रीथिंग एक्सरसाइज,आराम दायक पोश्चर ,ग्रह और कार्यस्थल में काम करने का प्रशिक्षण   इत्यादि की सलाह देते है जिससे जच्चा बच्चा स्वस्थ रहे 

इसलिए फिजियोथेरेपी का दायरा सिर्फ मांसपेशियों और हड्डियों तक सीमित नही है  इसकी सीमा में वो तंत्रिकाये  भी आती है  जो हमारे शरीर के  विभिन्न अंगों को नियंत्रित करती है 

डॉ. नेहा सोलंकी ने डिलीवरी के  बाद होने वाली तकलीफों को दूर करने के लिए कई तरह के व्यायाम बताए ।डॉ.  नेहा ने बताया कि अक्सर  देखा जाता है कि  महिला की डिलीवरी होने के  बाद महिला और उसका परिवार बेफिक्र हो जाता है ।जबकि महिला के शरीर मे अनेक बदलाव आने लगते है जिससे आने वाले समय में महिलाओं को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है जिसे लेकर सही समय तक व्यायाम  करने से इन सब परेशानियों से निजात मिल जाती है और महिला और नवजात शिशु स्वस्थ बने रहते है


Responses


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /home/justneemuch/public_html/description.php on line 378

Leave your comment