आस्था अभियान:एस.पी. श्री विधार्थी ने व्यवसायी रामस्वरूप के घर पहुॅचकर 49 वीं वैवाहिक वर्षगांठ पर दी शुभकामनाएॅ।

2018-12-04 05:36:55

नीमच पुलिस मध्य प्रदेश के स्थापना दिवस के अवसर पर वरिष्ठ नागरिकों के ध्यान में रखते हुए ‘‘अभियान आस्था‘‘ के नाम से एक अभिनव पहल की शुरुआत की, जिसके तहत बुजुर्गो की लाठी पुलिस बनकर उनके मददगार के रूप में हर समय उपलब्ध होगी इस अभियान का उद्देश्य वृद्धजनों में सुरक्षा सहयोग और आत्मविश्वास सद्भाव व सम्मान का भाव जाग्रत करना है, जिसके तहत् पुलिस अधीक्षक श्री तुषार कान्त विद्यार्थी द्वारा आस्था अभियान के अंतर्गत थाना नीमच केंट क्षैत्र के श्री रामस्वरूप खण्ड़ेलवाल के निवास स्थल बंगला नम्बर 46 मकान नम्बर 05 नीमच पर पहुॅचकर श्री रामस्वरूप खण्ड़ेलवाल एवं श्रीमति खण्ड़ेलवाल को 49 वी वैवाहिक वर्षगांठ की बधाई दी जाकर पुष्पगुच्छ भेंट किया। एस.पी. श्री विधार्थी द्वारा खण्डे़लवाल दम्पत्ति से स्वास्थ्य एवं परिवार के बारें में जानकारी प्राप्त की। श्री रामस्वरूप खण्ड़ेलवाल का जन्म 08 अगस्त 1947 को निम्बाहेड़ा राजस्थान में हुआ। श्री खण्डे़लवाल का विवाह दिनांक 03 दिसम्बर 1969 को श्रीमति पुष्पा खण्ड़ेलवाल निवासी नीमच के साथ हुआ। श्री रामस्वरूप खण्ड़ेलवाल कृषि उपज मंडी में व्यवसायी है। श्री खण्डे़लवाल के 01 पुत्र अजय खण्ड़ेलवाल इन्दौर में फर्नीचर शौरूम पर कार्यरत है तथा पुत्री अर्चना खण्ड़ेलवाल एवं मिनाक्षी खण्ड़ेलवाल विवाहित होकर मन्दसौर एवं उदयपुर निवासरत है। 
वैवाहिक वर्षगांठ के दौरान पुलिस अधीक्षक श्री तुषारकांत विद्यार्थी ने श्री खण्ड़ेलवाल दम्पत्ति को पुष्पगुच्छ भेंट कर वैवाहिक वर्षगांठ की बधाई दी। एस.पी. श्री विद्यार्थी ने उनको नीमच पुलिस सेे हर सहयोग का वादा किया एवं अपना मोबाईल नम्बर भी उन्हे नोट कराया ओर कहा कि, वे कभी भी काल करके अपनी समस्या बताऐं, अपने को अकेला नहीं समझे। नीमच पुलिस सदैव आपका ध्यान रखेगी।  
        एस.पी. श्री विद्यार्थी ने बताया कि पुलिस उनके परिजन की तरह है, अतः किसी भी समस्या को शेयर करने में नहीं हिचके तथा श्री विधार्थी ने उन्हें आश्वस्त किया कि उनके जीवन के हर मोड़ पर पुलिस उनके साथ है, वें सदैव जरूरत पड़ने पर उन्हें अथवा अन्य पुलिस अधिकारियों को याद कर सकते है, जो उनके सहयोग के लिए तत्पर रहेगें। 

 


Responses


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /home/justneemuch/public_html/description.php on line 378

Leave your comment