मिलावटी घी बेचने वाले डिस्ट्रीब्यूटर को 06 माह का सश्रम कारावास एवं 1,000रू. जुर्माना। 

2018-12-05 02:18:33

नीमच। श्री नरेन्द्र कुमार भंडारी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा एक आरोपी को मिलावटी घी को बेचने के लिए वितरण (डिस्ट्रीब्यूट) करने के आरोप का दोषी पाकर 06 माह के सश्रम कारावास और 1,000रू. के जुर्माने से दण्डित किया गया।जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री आर. आर. चौधरी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि लगभग 09 वर्ष पूर्व दिनांक 06.10.2009 को दोपहर के लगभग 01.00 बजे खाद्य निरीक्षक राजु सौलंकी नियमित निरीक्षण हेतु अमृत मंथन प्रेस के पास स्थित एक फर्म पर पहुचे जहॉ पर किराना सामग्री का विक्रय किया जाता था। खाद्य निरीक्षक द्वारा निरीक्षण के दौरान बेचने के लिए दुकान में रखे श्री अर्पण एगमार्क स्पेशल ग्रेड शुद्व घी के तीन पैकेट नमूना जॉच हेतु 150रू. नकद भुगतान कर लिया, जिसकी जॉच लोक विश्लेषक, राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला, भोपाल से करायी, जिससे प्राप्त रिपोर्ट में घी मिलावटी होकर मानव स्वस्थ्य के लिए हानिकारक होना बताया, जिस कारण घी के वितरक के विरूद्ध न्यायालय में परिवाद प्रस्तुत किया गया। श्रीमति कीर्ति शर्मा, एडीपीओं द्वारा अभियोजन की ओर से न्यायालय में खाद्य निरीक्षक एवं अन्य आवश्यक गवाहों के बयान कराकर अपराध को प्रमाणित कराया गया। दण्ड के प्रश्न पर तर्क दिया गया कि लोक विश्लेषक, राज्य खाद्य प्रयोगशाला, भोपाल की रिपोर्ट से यह स्पष्ट हैं कि आरोपी द्वारा विक्रय के लिए जो घी वितरीत किया जा रहा था वह मिलावटी होकर मानव स्वास्थ्य को नुकसान पहुचाने वाला था, इसलिए आरोपी को कठोर दण्ड से दण्डित किया जाए। अभियोजन के तर्को से सहमत होकर श्री नरेन्द्र कुमार भंडारी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा मेसर्स श्री बालाजी इण्डस्ट्रीज, गंजबासौदा के वितरक आरोपी मनोज पिता मुन्नालाल अग्रवाल, उम्र-34 वर्ष, निवासी-42, स्टेशन रोड,़ गंजबासौदा, जिला-विदिशा (म.प्र.) को धारा 7(1) सहपठित धारा 16(1)(क)(1) खाद्य अपमिश्रण अधिनियम, 1954 के अंतर्गत 06 माह के सश्रम कारावास एवं 1000 रू. के जुर्माने से दण्डित किया गया। न्यायालय में शासन की ओर से श्रीमति कीर्ति शर्मा, एडीपीओ द्वारा पैरवी की गई।


Responses


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /home/justneemuch/public_html/description.php on line 378

Leave your comment