कामकाज को लेकर टोकता था पिता, इसलिए कर दी हत्या, पुत्र के साथ मां भी थी षड्यंत्र में शामिल

2018-12-06 08:03:54

नीमच। एक कलयुगी पुत्र ने अपने पिता की हत्या महज इस बात को लेकर कर दी कि पिता उसे काम पर न जाने के कारण टोकता था। हत्या के सनसनीखेज घटनाक्रम में युवक की मां यानी मृतक की पत्नी भी शामिल रही। मामले में पुलिस ने पुत्र-मां एवं एक अन्य को गिरफ्तार किया है। घटना के अनुसार 19 नवम्बर को बड़ावदा गांव के 55 वर्षीय कन्हैयालाल धाकड़ का शव खुद के खेत पर ही सड़ी गली अवस्था में मिला था। मृतक के गले में सूत की रस्सी का फंदा था जो एक कपास के पौधे से बंधा था, इसके अलावा मृतक का एक पैर घटनास्थल से करीब 25-30 फीट की दूरी पर अलग पड़ा था। सिंगोली पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर विवेचना प्रारंभ की। अनुसंधान में पुलिस को एक चौंकाने वाली जानकारी मिली कि कन्हैयालाल अपने घर से 15 नवंबर को ही लापता हो गया था, जबकि उसका शव 19 नवंबर को मिला। पड़ताल में पता चला कि इस अवधि में कन्हैयालाल के गायब होने की सूचना परिजनों ने ना तो पुलिस को दी और ना ही पड़ोसियों को इस बारे में कुछ बताया। इससे पुलिस का शक गहराता गया। मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया गया। मृतक कन्हैयालाल के पुत्र लाभचंद को बार-बार पूछताछ के लिए बुलाया गया, पहले तो वह मुकरता रहा लेकिन पिता के 15 नवंबर को ही लापता होने के तथ्य के बारे में वह स्पष्ट नहीं कर सका। कड़ी पूछताछ में उसने आखिरकार हत्या का राज खोल दिया। एसडीओपी टीसी पंवार ने बताया कि लाभचंद कोई काम नहीं करता था, घर में बैठकर टीवी पर अक्सर  सीआईडी सीरियल देखता रहता था। पिता कन्हैयालाल काम काज को लेकर लाभचंद को टोकता रहता था।  15 नवंबर को भी इस बात पर दोनो के बीच विवाद हुआ था। जब दोपहर में कन्हैयालाल घर पर खाना खाने आया था उसी दौरान मामूली विवाद पर लाभचंद ने फावड़ा सिर पर मार कर हत्या कर दी थी। शाम तक शव को घर में ही रखा ताकि पड़ोसियों को किसी तरह का शक ना हो। रात में अपने साथी चुन्नीलाल गुर्जर की मदद से लोडिंग टेंपो में शव रखवा कर खेत पर ले गया और कुएं में डाल दिया। इस बात की जानकारी आरोपी की मां को भी थी। 16 नवंबर को आरोपी अपने साथी के साथ फिर से खेत पर पहुंचा और कुएं में से शव निकाला, मृतक का एक पैर कुल्हाड़ी से काट कर दूर फेंका और शव को कपास के खेत में पटक दिया। मृतक के गले से रस्सी बांधकर कपास के पौधे से बान्ध दी ताकि जानवर शव न ले जा सके। चार-पांच दिनों में शव पूरी तरह सड़ गया था। एसडीओपी पंवार ने बताया कि  कन्हैयालाल की हत्या के आरोप में उसके पुत्र लाभचंद, मृतक की पत्नी और चुन्नीलाल को गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही हत्या में प्रयुक्त औजार और वाहन आदि भी जप्त कर लिए गए हैं।


Responses


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /home/justneemuch/public_html/description.php on line 378

Leave your comment