बाईक चोर को 06 माह का सश्रम कारावास।

नीमच। श्री एम. ए. देहलवी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा एक आरोपी को बाईक चोरी करने के आरोप का दोषी पाकर 06 माह के सश्रम कारावास एवं 500रू. जुर्माने से दण्डित किया।जिला अभियोजन अधिकारी श्री आर. आर. चौधरी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि घटना लगभग 07 वर्ष पुरानी होकर दिनांक 19.06.2012 रात के 09ः00 बजे की हैं। फरियादी भैरूलाल फव्वारा चौक स्थित कालिका वाईन शॉप के सामने उसकी मोटरसाईकिल हिरोहोण्डा सी.डी. डिलक्स एम.पी. 44 एम.डी. 0230 को खड़ी करके वाईन लेने गया था, जब वह थोड़ी देर में वाईन लेकर वह वापस आया तो उसकी मोटरसाईकिल कोई चोरी करके ले गया था। भैरूलाल ने मोटरसाईकिल चोरी हो जाने कि रिपोर्ट पुलिस थाना नीमच केंट पर कि, जिस पर से अपराध क्रमांक 344/12, धारा 379 भादवी के अंतर्गत पंजीबद्व किया गया। पुलिस नीमच केंट द्वारा विवेचना के दौरान दो आरोपीयों नाथुसिंह व मंगलसिंह के कब्जे से चोरी की गई बाईक को जप्त कर शेष विवेचना पूर्णकर चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। विचारण के दौरान आरोपी नाथुसिंह के फरार हो जाने से आरोपी मंगलसिंह के विरूद्व विचारण चला।  श्री आकाश यादव, ए.डी.पी.ओ. द्वारा अभियोजन पक्ष की ओर से न्यायालय में फरियादी, पंचसाक्षी, जप्तीकर्ता पुलिस अधिकारी सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान कराकर अपराध को प्रमाणित कराकर, दण्ड के प्रश्न पर तर्क दिया कि वर्तमान बढ़ती हुई चोरी कि घटनाओं को देखते हुए उदाहरणस्वरूप आरोपी को कठोर दण्ड से दण्डित किया जाये। श्री एम. ए. देहलवी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा आरोपी मंगलसिंह पिता अर्जुनसिंह सौंधीया, उम्र-25 वर्ष, निवासी-ग्राम नागड़ पिपलिया, थाना नारायणगढ़, जिला मंदसौर को धारा 379 भादवि (चोरी करना) में 06 माह के सश्रम कारावास व 500रू. जुर्माने से दण्डित किया। न्यायालय में शासन की और से पैरवी श्री आकाश यादव, एडीपीओ द्वारा की गई।