मिलावटी अजवाईन बेचने वाले सेठ व मुनीम को 06-06 माह का सश्रम कारावास एवं 1,000-1,000रू. जुर्माना। 

नीमच। श्री नरेन्द्र कुमार भंडारी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा एक आरोपी सेठ व मुनीम को अपमिश्रीत मिलावटी अजवाईन बेचने के आरोप का दोषी पाकर 06-06 माह के सश्रम कारावास और 1,000-1,000रू. के जुर्माने से दण्डित किया गया।

जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री आर. आर. चौधरी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि लगभग 09 वर्ष पूर्व दिनांक 13.01.2010 को सुबह के लगभग 11.30 बजे खाद्य निरीक्षक राजु सौलंकी नियमित निरीक्षण हेतु करोड़ीगंज, बघाना स्थित मेसर्स गोयल ट्रेडिंग कंपनी पर पहुचे जहॉ पर धनिया, अजवाईन आदि सामग्री का विक्रय किया जाता था। खाद्य निरीक्षक द्वारा निरीक्षण के दौरान वहॉ पर मौजुद व्यक्ति से उसका नाम पुछने पर उसने अपना नाम भरत बताया और बताया कि वह मुनीम है तथा कंपनी के मालिक का नाम मुरारीलाल है। खाद्य निरीक्षक द्वारा बेचने के लिए रखी अजवाईन में से 600ग्राम जॉच हेतु 36रू. नकद भुगतान कर लिया गया, जिसकी जॉच लोक विश्लेषक, राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला, भोपाल से करायी, जिससे प्राप्त रिपोर्ट में अजवाईन मिलावटी होकर मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होना बताया गया, जिस कारण  न्यायालय में परिवाद प्रस्तुत किया गया।

 

श्री रितेश कुमार सोमपुरा, एडीपीओं द्वारा अभियोजन की ओर से न्यायालय में खाद्य निरीक्षक एवं अन्य आवश्यक गवाहों के बयान कराकर अपराध को प्रमाणित कराकर, दण्ड के प्रश्न पर तर्क दिया गया कि विक्रय के लिए जो अजवाईन रखी हुई थी वह मिलावटी होकर मानव स्वास्थ्य को नुकसान पहुचाने वाला थी, इसलिए आरोपीगण को कठोर दण्ड से दण्डित किया जाए। श्री नरेन्द्र कुमार भंडारी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा मेसर्स गोयल ट्रेडिंग कंपनी, नीमच के मुनीम (1) भरत पिता दयाल नागदा, उम्र-29 वर्ष, निवासी-ग्राम विसलवास बामनीया, तहसील व जिला-नीमच तथा मालिक (2) मुरारीलाल पिता छगनलाल गोयल, उम्र-67 वर्ष, निवासी-भोलाराम कंपाउण्ड, स्कीम नम्बर 07, तहसील व जिला नीमच को धारा 7(1)(3) सहपठित धारा 16(1)(क)(1) एवं (2) खाद्य अपमिश्रण अधिनियम, 1954 के अंतर्गत 06-06 माह के सश्रम कारावास एवं 1000-1000 रू. के जुर्माने से दण्डित किया गया। न्यायालय में शासन की ओर से श्री रितेश कुमार सोमपुरा, एडीपीओ द्वारा पैरवी की गई।